Bitcoin in Hindi 2021| Bitcoin Kya Hota Hai

आजकल हम जब payment करते है किसी UPI या digital wallet app से तो कई बार हमें cashback मिल जाता है. 

कभी सोचा है अपने की ये cashback कहा से आया? 

सरकार ने तो ये cashback money प्रिंट नहीं किये RBI ने भी print नहीं किये तो क्या ये apps आपको हवा से cashback print करके देते है?

तो कही इसीतरह cryptocurrency bitcoin भी हवा में print किया गया पैसा तो नहीं?

क्या आपको bitcoin में investment करना चाहिए? bitcoin safe है ? या फिर ये हवा में print किया गया पैसा है जो कभी गायब हो जायेगा?

इन सभी सवालो के जवाब जानेंगे इस article में.

आपने बहोत सारी  blogs या videos देखि होंगी bitcoin की लिकेन इस article में आपके सारे confusion दूर हो जायेंगे।

Bitcoin को अच्छे तरीके से समजे उसके लिए जरुरी है की हम जाने “The  Story  Of  Money ” याने पैसे की कहानी.

The  Story  Of  Money | पैसे की कहानी

तो सबसे पहले पैसे जैसी कोई चीज़ नहीं थी लोग barter करते थे याने में आपसे एक किलो गेहू लेलु और बदले मेरे पास चावल है तो चावल देदू.

चीज़ो का आदान प्रदान directly होता था. ऐसा नहीं होता था की मैंने चीज़ो के बदले पैसे लिए और उस पैसे से जूते खरीदे, चीज़े सीधा exchange होती थी.

अब इसमें बहोत सारि problem है की मुझे चाहिए शक्कर और मेरे पास है चावल और आपको चाहिए गेहू तो ऐसी सारि दिक्कते आती थी.

जिसके कारन हम shift हुए metals पे – gold, copper, etc. 

लेकिन metals के साथ भी एक problem थी यह भारी होते थे अगर आप कुछ सिक्के भी copper या लोहे के लेके जा  रहे है तो काफी भारी हो जाते थे और gold ले जाना safe नहीं होता था इसके अलवा अगर आपको छोटा मोटा transaction करना है तो उसे काट नहीं सकते तो gold  भी flexible नहीं था.

जिसके कारन तीसरा option आया जिसमे ये हुआ की सरकारे यह बोलती थी की आपके पास जितना सोना है वो हमको देदो उसको हम तिजोरी में safe रखेंगे और उसके बदले आपको currency या नोट issue कर देते है इससे यह माना जायेगा की उस पैसे का आपका gold हमारी तिजोरी में रखा हुआ है उसके बदले आपको चलन दिया हुआ है जिसको हम currency note बोलते है 

लेकिन इसमें भी एक problem थी कई बार सरकारे economics policies के कारन ज्यादा नोट छापना चाहती थी और वो ऐसा नहीं ‘कर सकते थे क्यूंकि जितना वो छापना चाहेंगे उतना सोने का deposit भी होना चाहिए.

Fiat Money 

इसका मतलब होता है “by order” सरकार के मर्जी के हिसाब से तो वो ये पैसा है हो सरकार ने print कर दिया है अपनी मर्जी के हिसाब से और लगभग पूरी दुनिया इसी हिसाब पे चलती है.

तो अब समझते है की इस कहानी का importance क्या था? 

जब fiat money आया तब तो २ problems आ गयी:

  1. सरकार के पास बहोत ज्यादा control आ गया 
  2. अनगिनत पैसे छाप सके 

सवाल यह है की अगर सरकार के पास पैसे को control करने की ताकत आ गयी तो इसमें दिक्कत क्या है?

कुछ साल पहले हमने देखा की भारत में demonetization हो गया, तो क्यूंकि वो पैसे सरकार के control में है, RBI की signs से उसकी value होती है तो जब चाहे सरकार एक order पास करके उसकी value zero भी कर सकती है.

Economics का एक rule है जितना ज्यादा पैसा छापा जायेगा उतनी महंगाई बढ़ेगी.

तो  पहले problem का solution यह की की हम cash में transaction करे ही ना, हम digital transaction करे  जैसा की हुआ demonetization वक्त.

जिन लोगो के पास खूब सारा पैसा रखा हुआ था उन्हें problem हुई लेकिन जिनका बैंक account, paytm, digital wallets में था तो उन्हें कोई problem नहीं हुई.

अगर हम digital money use करे तो control की problem solve हो जाएगी।

लेकिन दूसरी problem से हमारे account में जो पैसा पड़ा है उससे उसकी value कम होगी और इसे digital money solve नहीं कर पा रहा.

Digital Money – UPI, wallets की problem

और अभी जो digital money है – UPI, wallets, etc इसमें भी एक problem है की हमारे जो ledger है क्या debit/credit हुआ ये सब bank या UPI wallets के पास है जिसको वो चाहे तो misuse कर सकते है या सरकार जब चाहे हमारे transactions के record मांग सकती है और हमारे ऊपर investigation चला सकती है इसके अलावा सबसे major problem की हम अपना पैसा किसी bank के पास deposit कर रहे है ताकि वो सुरक्षित रहे अब शायद  बैंक उसको miss lend या गलत लोगो को दे देती है इस्पे हमारा कोई control नहीं होता।

Yesbank की बात करे तो उसने लोगो का पैसा लिया और ऐसे लोगो को बाट दिया  की वो पैसा वापस नहीं आया लेकिन खाताधारक को अपना पैसा चाहिए तो सरकार को भींच में आना पड़ा और tax payer money से लोगो को उनका पैसा लौटना पड़ा.

तो सरकार जब हजारो करोडो रुपये डालकर उसको बचा रही है तो सरकार के पास यह पैसा कहा से आया?

तो उन्हें यह पैसा print करना पड़ा और economics के rule के हिसाब से महंगाई बढ़ रही है.

तो बैंक अगर गलत तरीको से lend करते है और उसे वापस नहीं ला प् रहे तो देश में महंगाई बढ़ रही है. 

तो ये आज के money का major problem है. तो इसका solution क्या है?

तो bitcoin इसका solution है.

तो आईये जानते है…

Bitcoin क्या है (Bitcoin in hindi )

Bitcoin को cryptocurrency कहा जाता है  क्यूंकि यह एक digital currency है real cash money नहीं है.

हमने discuss किया UPI और wallets को तो UPI को लेके हम bitcoin को समझते है.

UPI में क्या होता है? इसमें आपकी ID होती है आपकी और दुसरो की. अगर आपको दुसरो की ID पता है तो आप पैसा भेज सकते है.

इसके  अलावा जब हम पैसे भेजने वाले है तो हमे PIN डालना होता है जिसे हम password भी बोल सकते है.

Bitcoin Kaise Work Karta Hai

तो bitcoin भी इसी तरह का digital money है बिलकुल UPI की तरह काम करता है आपका एक बिटकॉइन ID है जिसपे आप लोगो से पैसे या bitcoin ले सकते है. और आपका एक password है जब भी आप अपने bitcoin किसी और को देना चाहेंगे तो आपको वो password डालना है. इसे कहते है bitcoin private key क्यूंकि ये सिर्फ आपके लिए private है password की तरह. 

अभीतक तो यह बिलकुल UPI जैसे लग रहा है तो फर्क क्या है?

फर्क सिर्फ एक simple सा है, जैसे हमने जाना की UPI payment apps, wallets, या banks के बिच होता है याने वो ledger bank maintain करता है और वो दुसरो को दे सकता है.

लेकिन bitcoin में ये जो ledger है आपने कितना किसको पेमेंट किया यह data कोई एक maintain नहीं करता। 

इसमें जैसे ही आपने किसी के bitcoin wallet की ID डाली और अपना password डाला और पेमेंट किया तो जैसे ही आप अपना पासवर्ड दाल रहे है वो transaction approved हो गया और जो ये record है की यहाँ से debit हुआ और वह credit हुआ ये कोई bank या app के पास न जाके एक साथ दुनिया के लाखो computers में चला जाता है की एक bitcoin wallet से दूसरे में इतने पैसे गए, password सही था, transaction approved

और एकबार यह डाटा चला गया तो change नहीं किया जा सकता.

और अगर इसके बाद जैसे आपकी UPI ID है और सरकार investigate करना चाहे तो आपके UPI ID से बैंक के पास रिकॉर्ड है (ID किसकी है, कोनसे बैंक से है ) तो इससे इंसान का पता चल सकता है.

दूसरा फर्क यह है की bitcoin id के पीछे कोण इंसान हे यह पता नहीं चलता क्यूंकि आपको bitcoin wallet खोलने के लिए Aadhar card या PAN card की जरुरत नहीं होती और किसी एक computer में records नहीं होती.

Bitcoin के २ फायदे है:

  1. आप control कर सकते है 
  2. किसी एक देश की सरकार इसे cancel नहीं कर सकती क्यूंकि सरकार ने इसे issue नहीं किया और control भी नहीं है.

हा यह जरूर है की बीच में भारत में bitcoin apps को ही बंद कर दिया गया था. कुछ दिनों पहले भारत में bitcoin banned होने के कारन इसमें invest करना नामुमकिन हो गया था लेकिन बाद में यह निर्बंध हटाया गया.

सारी दुनिया में demand and supply कैसा है उसके हिसाब से बिटकॉइन की कीमत या value तय होगी.

कल को अगर भारत कर्ज में दुब जाता है और ज्यादा नोट छपने लगता है तो bitcoin की कीमत नहीं गिरेगी क्यूंकि वह किसी पे निर्भर नहीं है.

Bitcoin से आप global currency में invest कर सकते है और इससे किसी सरकार या देश से निरनय से आपकी मेहनत की कमाई affect नहीं होगी.

और आपके bitcoin का control सिर्फ आपके पास होता है. 

Bitcoin के नुकसान

Bitcoin owner की identity पता नहीं चलती (इसे advantage और disadvantage भी कह सकते है )

जिससे कई illegal activities के लिए bitcoin use होता है  ऐसे आरोप bitcoin पे लगते रहे है.

Bitcoin को लेकर इतना हौआ क्यों है?

ऐसे कहा जाता है की इसने पिछले कुछ सालो में  बहोत ज्यादा return दिया है.

बिलकुल २०१०-२०१७ तक इसने काफी अच्छा return दिया है.

लेकिन उसके २ कारन थे :

  1. तब bitcoin नयी चीज़ थी , novelty थी उससे बहोत लोगो का इंटरेस्ट आ गया था और उसकी demand करने लगे थे और ऐसे में जिस चीज़ की डिमांड हो उसका भाव तो बढ़ ही जाता है. 
  2. Bitcoin supply limited थी. याने पहले से decide था की केवल 21 millions bitcoins ही दुनिया में होंगे।

अगर बात करे gold की कीमत ज्यादा क्यों है? क्यूंकि वो कम मिलता है rare है.

लेकिन हमे यह जानना होगा की किसी भी currency के २ uses होते है:

  1. exchange का माध्यम याने अगर आपके पास रुपये है तो आप रुपये देकर उससे कुछ खरीद सकते हो.
  2. speculation या trading करना याने डॉलर का भाव बढ़ेगा, रुपये का गिरेगा तो डॉलर खरीद लेना चाहिए। हम currency को ही खरीद रहे है क्यूंकि currency का भाव ही कम ज्यादा होगा.

तो बिटकॉइन में चीज़े खरीदना आसान नहीं है मुकाबले रुपयों के. bitcoin हर दुकान में accept नहीं होता तो इससे एक चीज़  clear हो जाती है की लोग क्यों बिटकॉइन खरीद रहे थे क्यूंकि उनको लगता था की इसमें इन्वेस्ट करने से ५००० का १०००० हो जायेगा  और कुछ सालो तक ऐसा हुआ भी लेकिन २०१८ में bitcoin crash हुआ इसमें जीनोने investment के हिसाब से निवेश किया था वो पूरी ख़तम हो गयी.

Bitcoin Crash क्यों हुआ ?

अगर bitcoin बढ़ता जा रहा था rare है तो यह crash क्यों हुआ ?

एक major कारन – जब भी कोई चीज़ successful होती है तो वैसी बहोत सारी आ जाती है. 

तो bitcoin एक तरह की digital virtual currency है और जब यह successful हो रही थी तो एकदम से Ethereum, ripple जैसे और कई crypto coins market में आ गयी तो जिनको bitcoin costly लग रहा था तो वो alt coins खरीदने लगे इससे bitcoin पर असर हुआ.

अब जरा bitcoin को shares market से समझते है – अगर MRF भी टायर बना रहा है और JK भी टायर बना रहा है तो कोनसे शेयर्स का दाम ज्यादा रहेगा?  तो जिस company के टायर ज्यादा popular, अच्छे है और मुनाफा कमाती है उसके शेयर्स का दाम बढ़ेगा.

लेकिन bitcoin, Ethereum, ripple में कोण ज्यादा अच्छा है ? 

जितनी नयी currency आ रही थी वो ज्यादा अच्छी हो रही थी क्यूंकि उनकी transaction speed अच्छा था, नयी technology से बनी थी और उन्होंने bitcoin के कमियों को दूर किया.

इसीलिए bitcoin अपने competitors से पीछे रहने के कारन निचे आने लगी. 

तो cryptocurrency definitely आनेवाले समय में अच्छा करेगी लेकिन कोनसी करेगी यह बताना थोड़ा मुश्किल है क्यूंकि हर महीने एक  नयी crypto currency market में आती है और वो पहले किसीसे बेहतर होती है. 

Bitcoin Main Invest Kaise Kare

अगर आप बिटकॉइन में निवेश करना चाहते है तो आप wazix app का इस्तमाल कर सकते है [Download For Free]

याद रखे bitcoin में invest करने से पहले आप खुद को भी उसका research करना चाहिए किसीके कहने पर invest न करे 

तो यह था bitcoin के बारे में आशा है की आपको पूरी जानकारी hindi में समज आयी होगी अगर कोई सवाल है तो कमेंट करके हमें बताये.

Latest cryptocurrency news in hindi के लिए cryptonews24.in को subscribe करे 

FAQs

Bitcoin Kya Hai?

Bitcoin को cryptocurrency कहा जाता है  क्यूंकि यह एक digital currency है real cash money नहीं है.

बिटकॉइन की शुरुआती कीमत क्या थी?

0.060 रुपये जब 2009 में बिटकॉइन लॉन्च हुई थी.

बिटकॉइन में कैसे निवेश करें?

अगर आप बिटकॉइन में निवेश करना चाहते है तो आप wazix app का इस्तमाल कर सकते है [Download For Free]

Leave a Comment